Best Collection Of Short Love Stories In Hindi Font

वो मेहंदी लगवा रही थी. वो भी पास बैठा था.उसकी गोरी हथेलियों पर मेहंदी की कीप बेहद सावधानी से चल रही थी. आसपास भरे बाज़ार से दोनों ही बेसुध थे. हर कुछ देर बाद मेहंदी वाला हाथ उठाता और एक खूबसूरत अक्स उभरता. दोनों एक-दूसरे को देख मुस्कुराने लगते. हाथ आधा ही रचा था मगर वो मेहंदी से उठ रही खुशबू से मदहोश हुई जा रही थी. बच्चों की तरह किलकती हुई अपना हाथ उसे सुंघाने के लिए बार-बार आगे बढ़ाती. यही दोनों का खेल बन गया. अब दोनों वहां नहीं हैं.. कोई और यही खेल खेलता होगा…..