Girlfriend ki shadi image
Girlfriend ki shadi image

Girlfriend ki shadi ki sad shayari in hindi with image – ye girlfriend wedding sad shayari ek ladke ke jajbat hain jo apni girlfriend se kehna chahta hai. jiski shadi kisi aur se ho gyi hai… ye shayari uske kuch ankahe jajbaton ko bayan karti hai….

गर्लफ्रेंड की शादी की sad शायरी हिंदी में

मेहँदी मेरे नाम की लगाई तूने…
जब जब मै दूर हुवा अपने प्यार की दी दुहाई तूने…

तुझे याद है.. ? तू मेरे लिए कैसे सारा दिन भूखी प्यासी रहा करती थी…?
मै ना आऊंगा तो तू व्रत नही तोड़ेगी.. कैसे मुझसे ये कहा करती थी….

मुझे हल्की की खरोच पर मेरी माँ की तरह डरा करती थी तू…
वो दिन भी कैसे थे जब महोब्बत में दिलो जान से मुझ पर मरा करती थी तू…

मगर फिर ऐसा क्या हुवा जो तेरी मेहँदी पर किसी और का नाम चढ़ने लगा…
जो मेरे बिना एक पल ना धडकता था वो दिल कैसे हद से आगे बढ़ने लगा…

सच बताना ऐसी कौन सी मजबूरी थी जिसने तुझसे तेरा वो चाँद छीन लिया तू जिसके दीदार को तरसती थी…
तेरे पिता का कौन सा सम्मान था वो जिसने तुझे वो सूरत भुला दी जिसके लिए तेरी आंखे बरसती थी…

अब किसके नाम का पहला निवाला तोड़ कर तू व्रत पूरा किया करती है…?
पहले तू मुझपर मरा करती थी.. बता अब किस पर तू मरा करती है…?

बता इसमें मेरी क्या गलती थी जो तू मुझसे इतना दूर हो गयी…?
तेरे अपनों की कौन सी ख़ुशी थी वो.. जिसके खातिर मुझे छोड़ने पर मजबूर हो गयी…?

उनकी कुछ पल की ख़ुशी के लिए मै यहाँ बेमौत मर रहा हूँ…
मेरे सब दोस्त कुछ बन रहे हैं और मै यहाँ अपनी जवानी तबाह कर रहा हूँ….

क्या वो जो कसमे वादे किये थे… वो सब यूँही झूठे थे…?
तुझे याद है की नही तेरे करण ही मेरे सब अपने मुझसे रूठे थे…

सबको मुझसे जुदा करके आज ख़ुद तू कहाँ बैठी है…?
मै लेटा हूँ काटों की सेज पर और तू मखमल के बिस्तर पर आराम से लेती है…

तुझे किसी और का होता देख मै बुरी तरह टूट गया था…
उस पल ऐसा लगा जैसे मेरे जिस्म का साथ ही मेरी रूह से छूट गया था…

काश की हिम्मत करके अपनी जुबान पर लगे ताले को अपने पापा से सामने खोल देती…
तो शायद आज हम साथ होते… गर तू एक बार हिम्मत करके अपने मन की बात बोल देती….

Girlfriend ki shadi ki sad shayari in english hindi

Mehndi mere naam ki lagayi thi tune…
Jab jab main dur hua apne pyar ki di duhai tune…

Tujhe Yaad hai.. tu mere liye kaise sara din bhookhi pyasi raha karti thi…
Main na aunga to tu vrat nhi todegi.. kaise mujhse ye kaha karti thi…

Mujhe halki si kharoch pr meri maa ki tarah dara karti thi tu…
Wo din bhi kaise the jab Mohabbat me dil o jaan se Mujh par mara karti thi tu ….

Magar fir aisa kya hua jo teri mehandi par kisi aur ka naam chadhne laga…
Jo mere bina ek pal na dhadkta tha wo dil kaise had se aage badhne laga…

sach batana aisi kaun si majburi thi jisne tujhse tera wo chand cheen liya tu jiske didar ko tarasti thi…
Tere pita ka kaun sa samman tha wo jisne tujhe wo surat bhula di jike liye teri ankhen barasti thin….

Ab kiske naam ka pahla nivala tod kar tu vrat pura kiya karti hai ?
Pahle tu mujh par mara karti thi bata ab kis par tu mara karti hai….

Bata isme meri kya galti thi jo tu mujhse itna dur ho gayi…
Teri apno ki kaun si khushi thi wo. Jiski khatir mujhe chorne pr majbur ho gyi….

Unki kuch pal ki khushi ke liye mai yahan bemaut mar raha hun…
Mere sab dost kuch ban rahe hain aur mai yahan apni jawani tabah kr raha hun….

Kya wo jo kasme wade kiye the.. wo sab yun hi jhoothe the…
Tujhe yaad hai ki nahi tere karan hi mere sab apne mujhse ruthe the…

Sabko mujhse juda kar ke aaj khud tu kaha baithi hai…
Main leta hun kanton ki sej par aur tu makhmal ke bistar pe aram se leti hai…

Tujhe kisi aur ka hota dekh kr mai buri tarah toot gya tha…
Us pal aisa laga jaise mere jism ka sath hi meri rooh se chhot gya tha……

Kuchh tere dar ne khaya kuchh majbooriyan teri le baithin…
Mai hota tere sath agar tu himmat thodi aur kar leti….

Read this also : Sad Painful Heart Touching Shayari in Hindi

kaash ki tu himmat karke apni juban pr lage tale ko apne papa k samne khol deti….
to shayad aaj ham sath hote, gar tu ek baar himmat karke apne dil ki baat unhe bol deti….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here